Main Jo Hoon Wahi Rehne Do Mujhe - Paridhi Goel
Main Jo Hoon Wahi Rehne Do Mujhe - Paridhi Goel

The poetry  ‘Tere Jaane Se Meri Jaan Chali Jayegi’ for The Social House is performed by Nitya Singh and also written by Nitya Singh.

Main Jo Hoon Wahi Rehne Do Mujhe

जिंदगी में वो मुकाम पाना चाहती हूं

मैं अपना Intro देना भूल जाना चाहती हूं

यूं तो समंदर भरा हुआ है अपने घमंड से

पर किसी की प्यास बुझा सके,

वो बूंद उसके पास नहीं

एक दिल की बात कहने दो मुझे

आजाद हवा में बहने दो मुझे

क्यों बनूं मैं औरों की तरह

मैं जो हूं वही रहने दो मुझे

तू ही बता ऐ जिंदगी

कब तक सहु ये दरिंदगी

कब तक समाज के लिए मिटती रहूं

हर ख्वाहिश मार के बस घुट्टी रहूं

मत बांधो जंजीरों जैसी गहनों में मुझे

मैं जो हूं वही रहने दो मुझे

किसी को मेरा हंसता नहीं भाता

किसी को मेरा बोलना नहीं भाता

तो किसी को मेरा इधर-उधर डोला नहीं भाता

अब तो कपड़ों पर भी लगा दिया हजार बंदिशे

कैसे पूरी करूं जीने की ख्वाहिशें

गर पाप है लड़की होना

तो मिट्टी में रहने दो मुझे

वरना मैं जो हूं वही रहने दो मुझे

क्यों हूं मैं जिम्मेदार, हर जिम्मेदारी के लिए

क्यों सुनूं हर ताना समझदारी के लिए

कोई एक भी खुश ना हो तो कहते कि सोना खरा नहीं

क्यों करूं मैं सबको खुश, मैं कोई अप्सरा नहीं

दिखावा नहीं है बस की खुश करने को तुझे,

मैं जो हूं वही रहने दो मुझे

मैं जो हूं वही रहने दो मुझे..

– Paridhi Goel

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here